समुद्र-तट रेत खनन और खनिज पृथक्करण का प्रचालन स्वाभाविक रूप से पर्यावरण के अनुकूल है। निक्षेप से समुद्र-तट रेत खनिज निष्कर्षण के लिए कोई ब्लास्टिंग एवं बरमाई प्रचालन आवश्यक नहीं है।
 
खनन किए क्षेत्रों में एक साथ ही उन्नयन प्रक्रिया के दौरान उत्पन्न अवशेषों के साथ पुनर्भरण किया जाता है।  मोनाजाइट खनिज के निष्कर्षण के कारण क्षेत्र की पृष्ठभूमि विकिरण दूर की जाती है।
 
खनन के बाद, हरे रंग की बेल्ट को विकसित करने के लिए वृक्षारोण के विकास के लिए क्षेत्र के मूल स्थलाकृति को बनाए रखने के लिए भूनिर्माण किया जाता हे।  प्राकृतिक जल निकायों के पीछे छोड़ दिया जाता है, जिनका उपयोग पारिस्थितिकी पर्यटन के विकास के लिए किया जा सकता है।
 
खनिज पृथक्करण का प्रचालन भौतिक पृथक्करण् प्रक्रिया का उपयोग करते हुए किया जाता है जिसमें रसायनों के उपयोग नगण्य होते हैं। वायु, जल, शोर, मिट्टी और जैविक पर्यावरण पर नगण्य प्रभाव पड़ता है।
 
अंतिम नवीनीकृत 26/06/2017